धर्म परिवर्तन और रेप के आरोपियों को ले गई बिलासपुर पुलिस

धर्म परिवर्तन और रेप के आरोपियों को ले गई बिलासपुर पुलिस

सतना। बजरंग दल की सक्रियता से पुलिस के हत्थे चढ़े अपहरण, रेप और धर्म परिवर्तन करवाने के आरोपियों को बुधवार की सुबह बिलासपुर पुलिस अपने साथ ले गई। बिलासपुर की रहने वाली एक गरीब आदिवासी बालिका का आजाद खां नामक युवक पिछले दस महीनों से लगातार शारीरिक शोषण कर रहा था। अब वह अपने मौसा और बैकुंठपुर रीवा निवासी एक मौलवी के साथ मिलकर धर्म परिवर्तन करवाने की तैयारी कर रहा था ताकि उससे निकाह कर सके। हालांकि इससे पहले ही बजरंग दल के जिला संयोजक महेश तिवारी की सक्रियता से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस द्वारा लड़की को कब्जे में ले लिया गया।

बताया जा रहा है कि आरोपियों के खिलाफ बिलासपुर के गौरेला थाने में अपहरण का केस धारा 363 के तहत दर्ज किया गया था। लड़की का पिता जिसने एक दिन गुस्से में उसे पूरे गांव के सामने मारा था, लड़की के न मिलने पर उसने 14 दिसंबर 2016 को अपहरण का केस दर्ज करवाया था। तब पिता की मारपीट से अपमानित लड़की घर छोड़कर स्टेशन चली गई थी जहां उसकी मुलाकात कैमोर जिला कटनी निवासी आजाद उर्फ शेख सलीम से हुई। आजाद ने लड़की को बहला फुसला कर दस माह तक जबरिया शारीरिक संबंध बनाए।

बताया जा रहा है कि पूर्व नियोजित प्लानिंग के तहत ही युवक लड़की को लेकर मैहर आया था। यहां पिपरा गांव में रह रहे मौसा को साथ लेकर वह जल्द से जल्द उससे निकाह करना चाहता था। मैहर के जिस मकान में किरायेदार के तौर पर वह रह रहा था वहां भी उसने अपनी पहचान छिपाते हुए मकान मालिक को जितेंद्र नाम और लड़की को अपनी बीवी बताया था। उसने लड़की को कैमोर, जबलपुर इत्यादि कई शहरों में रखा था। फिलहाल आरोपियों आजाद खान, मौलवी रिजवान खान और आजाद के मौसा मीरउद्दीन को लेकर बिलासपुर पुलिस रवाना हो गई।

You may also like

WATCH: BBC reporter tracked down in 7 minutes by high-tech Chinese surveillance cams

There’s quite a bit of chatter going on